Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi | दर्द भरी शायरी इन हिंदी

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi | Sad Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi | Dard bhari bewafa shayari 2 line,

प्यार में धोखा बेवफा शायरी | दर्द भरी शायरी लिखी हुई | दर्द भरी शायरी इन हिंदी | दर्द भरी याद शायरी हिंदी में..

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

❝फिक्र है सब को खुद को सही साबित करने की,​
​जैसे ये जिन्दगी, जिन्दगी नही, कोई इल्जाम है।❜❜

 

❝शिकायत नही करता मेरा दिल किसी से,
मोहब्बत्त भी थी तो बस दिल में ही रखी।❜❜

 

❝यादों का बंधन तोड़ना इतना आसान नहीं है दोस्त,
कुछ लोग दिलों में बस जाते हैं लहू की तरह।❜❜

 

❝आँखो की नजर से नही हम दिल की नजर से प्यार करते है,
आप दिखे या ना दिखे फिर भी हम आपका दीदार करते हैं।❜❜

 

❝दोस्त हमदर्द होने चाहिए,
सिरदर्द बनने के लिए तो पूरी दुनिया ही तैयार बैठी है।❜❜

 

❝जख्म देना छोड दे ऐ जिंदगी,​
​अब तो मरहम की डिब्बी भी खाली हो गई है।❜❜

 

❝तकलीफों की सुरंग से जब ज़िन्दगी गुज़रती है,
तब जाकर कहीं शख्सियत निखरती है।❜❜

 

❝तेरी आँखों में एक शरारत सी हैं,
​क्या लेना चाहते हो दिल य़ा जान।❜❜

 

❝एक मैं हूँ कि समझा नहीँ​ ​खुद को आज तक​,
​एक दुनिया है कि न जाने मुझे​ ​क्या-क्या समझ लेती है।❜❜

 

❝जिन्दगी को ज़िन्दगी भर मनाते रहे हम,
​मौत आई और एक पल में मना कर ले गई।❜❜

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

❝हमें कोई ना पहचान पाया करीब से,​
​कुछ अंधे थे कुछ अंधेरों में थे।❜❜

 

❝कितने मजबूर हैं हम प्यार के हाथों,
न तुझे पाने की औकात, न तुझे खोने का हौसला।❜❜

 

❝तन्हाई की सरहदें और भीगी पलके,
हम लुट जाते है रोज तुम्हें याद करके।❜❜

 

❝सौ घूँट पिया शराब का इल्ज़ाम न कोई हुआ,
एक प्याला छलका इश्क़ का, बदनाम हो गया।❜❜

 

❝ज़िंदगी की कसौटी से हर रिश्ता गुज़र गया,
कुछ निकले खरे सोने से, कुछ का पानी उतर गया।❜❜

 

❝ज़रूरी तो नहीं, हर अहसास बयाँ करूँ,
समझते हो ना, तो समझ जाओ बस।❜❜

 

❝बहुत शौक था मुझे सबको जोडकर रखने का,​
​होश तब आया जब खुद के वजूद के टुकडे हो गये।❜❜

 

❝मुल्क, मोहब्बत, हौसला और झंडा थामे रहिये,
आँधियों का क्या है वो तो आती-जाती रहेंगी।❜❜

 

❝दोस्तो से टूट कर रहोगे तो कुत्ते भी सतायेंगे,
और दोस्तो से जुड़ कर रहोगे तो शेर भी घबरायेंगे।❜❜

 

❝प्यार तो सिर्फ प्यार है​ क्या पुरा क्या आधा,
​दोनों की ही चाहत बेमिसाल​ ​क्या मीरा क्या राधा।❜❜

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

 

❝नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखो में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।❜❜

 

❝हमनें कब माँगा है तुमसे अपनी वफ़ाओ का सिला,
बस दर्द देते रहा करों मुहब्बत बढती जाऐगी।❜❜

 

❝कुछ धुआँ भी है, थोड़ा शोर भी है,
सिर्फ इश्क़ ही क्यों, नशें और भीं हैं।❜❜

 

❝हँसकर कबूल क्या कर लीं सजाएँ मैंने,
​ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया हर इलज़ाम मुझ पर लगाने का।❜❜

 

❝मत हटाया करो लटो को गालों से यूँ,
सीधा सा दिल मेरा बेईमान होने लगता हैं।❜❜

 

❝तलब ऐसी कि सांसों में समा लूं तुझे,
किस्मत ऐसी कि देखने को मोहताज हूं तुझे।❜❜

 

❝खामोशीया कर दे बया तो अलग बात हे,
कुछ ददँ अेसे हे झो लफजो मे उतारे नही जाते।❜❜

 

❝वहाँ तक तो साथ चलो, जहाँ तक साथ मुमकिन है,
जहाँ हालात बदल जाएँ, वहाँ तुम भी बदल जाना।❜❜

 

❝यूं ही ख़्यालों में चले आया करो,
ना पकड़े जाने का खतरा, ना जाने की जल्दी।❜❜

 

❝ये ज़माना जल जायेगा किसी शोले की तरह,
जब मेरे हाथ की उँगली में तेरे नाम की अँगूठी होगी।❜❜

 

❝बड़ी ही खूबसूरत शाम थी वो तेरे साथ की,
अब तक खुशबू नहीं गई मेरी कलाई से तेरे हाथ की।❜❜

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

❝कोई कुछ कहता नही मुझसे आज कल,
​लगता है इश्क़ के मारे हम बेकार हो गए हैं।❜❜

 

❝रब करे मेरी यादों में तुम कुछ यूँ उलझ जाओ,
मैं तुमको यहाँ सोचूँ और तुम वहाँ समझ जाओ।❜❜

 

❝हम भी दरिया है, हमे अपना हुनर मालूम हे,
जिस तरफ भी चल पडेंगे, रास्ता हो जायेगा।❜❜

 

❝मैं खुद हैरान हूं की तुझसे इतनी मोहब्बत क्यूं है मुझे,
जब भी प्यार शब्द आता है चेहरा तेरा ही याद आता है।❜❜

 

❝आँखो की नजर से नही हम दिल की नजर से प्यार करते है,​
​आप दिखे या ना दिखे फिर भी हम आपका दीदार करते है।❜❜

 

❝तेरे दिल का मेरे दिल से, रिश्ता अजीब है,​
​मीलों की दूरियां, और धड़कन करीब है।❜❜

 

❝परायों को अपना बनाना उतना मुश्किल नहीं,​
​जितना अपनों को अपना बनाए रखना।❜❜

 

❝हर नज़र में मुमकिन नहीं है,बेगुनाह रहना,
कोशिश करता हूँ कि ख़ुद की नज़र में बेदाग रहूँ।❜❜

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

❝हिचकियाँ कहती हैं कि तुम याद करते हो,
पर बात नहीं करोगे तो एहसास कैसे होगा।❜❜

 

❝पसंद आ गए है कुछ लोगों को हम,
कुछ लोगों को ये बात पसंद नहीं आयी।❜❜

 

❝लफ्जों से इतना आशिकाना ठीक नहीं है ज़नाब,
किसी के दिल के पार हुए तो इल्जाम क़त्ल का लगेगा।❜❜

 

❝नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखो में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।❜❜

 

❝सोचते थे मिलेगा सुकून ऐ दिल उनसे मिलकर,
पर दर्द और बढ़ जाता है उन्हें देखने के बाद।❜❜

 

❝रास्ता सोचते रहने से, किधर बनता है,
सर में सौदा हो तो, दीवार में दर बनता है।❜❜

 

❝कौन कहता है वक्त बहुत तेज है,
कभी किसी का इंतजार करके देखो।❜❜

 

❝मैनें उन तमाम लोगों से रिश्ता तोड़ दिया​,
​जो तुम्हें भूलने की सलाह दे रहे थे।❜❜

 

❝फितरत किसी की​ ​ना आजमाया कर ऐ जिंदगी​,
​हर शख्स अपनी हद में​ ​बेहद लाजवाब होता है।❜❜

 

❝बहुत ही शरारती हैं ये तेरी आवारा जुल्फें,
हवा का बहाना बनाकर तेरे गालो को चूम लेती हैं।❜❜

Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

❝ख़्वाब ज़िन्दगी के कुछ अधूरे भी होना चाहिए,
उदास दिल और तन्हा शामों का मज़ा ही कुछ और है।❜❜

 

❝रिश्ता ये हमारा दर्द का नहीं, मुहब्बत का है,
और मुहब्बत का दूसरा नाम दर्द भी तो है।❜❜

 

❝इश्क़ पाने की तमन्ना में कभी कभी,
ज़िंदगी खिलौना बनकर रह जाती है।❜❜

 

❝ना आँखो मे ख्वाब है ना दिल मे तमन्ना कोई,
अपनी बनाई हुई राहो से ही अनजान हूँ।❜❜

 

❝लफ़्ज़ों की कमी हो गई है पास हमारे,
वरना काबिले तारीफ तो बहोत कुछ है आप में।❜❜

 

❝पांवों के लड़खड़ाने पे तो सबकी है नज़र,
​सर पर है कितना बोझ कोई देखता नहीं।❜❜

 

❝एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है,
एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं।❜❜

 

❝तुम्हारे बाद खुदा जाने क्या हुआ दिल को,
किसी से रिश्ता बनाने का हौंसला ही ना हुआ।❜❜

 

❝न मंज़िलों को न हम रहगुज़र को देखते हैं,
अजब सफ़र है कि बस हम-सफ़र को देखते हैं।❜❜

 

❝कितना महफूज था गुलाब काँटों की गोद में,
लोगों की मोहब्बत में पत्ता पत्ता बिखर गया।❜❜

 

❝रिवाज़ों से तो रिश्ते चलते होंगे,
मुहब्बत तो बस मुहब्बत से चलती हैं।❜❜

 

❝हर वक़्त मिलती रहती है मुझे अनजानी सी सजा,
मैं तक़दीर से कैसे पूंछू की मेरा कुसूर क्या है।❜❜

 

❝जाने क्या असर कर गयीं तेरी बातें,
वर्ना इस तरह कभी याद किसी की आयी न थी।❜❜

 

❝मोहब्बत अब नहीं रही जमाने में,
अब लोग इश़्क नहीं मज़ाक किया करते हैं।❜❜

 

❝दिल को वीरान हुए एक ज़माना गुज़रा,
इस हवेली में कोई अब नहीं आता जाता।❜❜

 

❝मेरी शायरी के तरकश में इतने अल्फाज कहा,
​जितनी आपके चेहरे पर अदायें हैं।❜❜

 

❝आ लिख दूँ तेरी हथेली पर वो लफ्ज​,
​जिसे कहने को मैं और सुनने को तू बेकरार है।❜❜

 

❝अब उस चिठ्ठी की तरह, सफ़र में है ज़िन्दगी,
जिसे बगैर पता लिखे, रवाना कर दिया गया है।❜❜