Breakup Shayari in English & Hindi | 150+ ब्रेकअप शायरी अंग्रेजी में

Breakup Shayari in English & Hindi | breakup shayari in english | Heart Touching Shayari for Girlfriend | Heart Touching Shayari in English Hindi | Breakup shayari in english 2 line | ब्रेकअप शायरी अंग्रेजी में..


Breakup Shayari in English & Hindi

इतना भी कीमती ना बना अपने आप को…
हम गरीब लोग हैं महँगी चीज़ छोड़ दिया करते है…❣️

 

Kabhi yeh dua ki
Usse mile jahan ki khushi
Kabhi ye khouf ki woh
Mere bagair khush toh nahi

 

मेरी यादों का बोझ निकाल देना अपने दिल से,
मैं नहीं चाहता कि तू भी मेरी तरह तडपे,..!!

 

Zakhm dekar naa poocha karo
Dard dard hota hai thoda kya jyada kya

 

तेरी धड़कन ही ज़िन्दगी का कस्सिस है मेरा ,
तू ज़िन्दगी का एक अहम् हिस्सा हो मेरा !!

 

Dil Ka Haal Batana Nahi Aata,
Hame Aise Kisi Ko Tadpana Nahi Aata.

 

मोहब्बत का ख़ुमार उतरा तो, ये एहसास हुआ,
जिसे मन्ज़िल समझते थे, वो तो बेमक़सद रास्ता निकला।

 

Teri Dhakan Hi Zindagi Ka Kissa Hai Mera,
Tu Zindagi Ka Ek Aham Hissa Ho Mera.

 

हजार बार ली तुमने तलासी मेरे दिल की ,
बताओ कभी कुछ मिला इसमें प्यार के सिवा !!

 

Hajar Bar Li Tumne Talashi Mere Dil Ki,
Batao Kabhi Kuchh Mila Isme Pyar Ke Siva.

 

तुम्हारी फिकर है इसमें कोई सक नहीं ,
तुम्हे कोई और देखे किसी को ये हक नहीं!!

 

Tumhari Fikar Hai Isme Koi Sak Nahi,
Tumhe Koi Aur Dekhe Kisi Ko Ye Haq Nahi.

 

इससे पहले वो हमारी जान जाए ,
उन्हें कहो की वो मान भी जाए !!

 

कभी आहट, कभी ख़ुशबू, कभी नूर से आ जाती है !
तेरे आने की ख़बर मुझे दूर से आ जाती है …

 

Isse Pahle Vo Hamari Jaan Jaaye,
Unhe Kaho Ki Vo Maan Bhi Jaaye.

 

दुनिया में रह  कर सपनो में खो जाओ ,
किसी को अपना बना लो या किसी के हो जाओ !!

 

Hum Toh Bane Hi The Tabaah Hone Ke Liye..
Tera Chhod Ke Jana Toh Mahez Bahana Ban Gaya..

 

किसी को चाहो तो इतना चाओ कि,
फिर किसी को चाहने की चाहत न रह जाए..!!

 

Meri Taqdeer Sanwar Jayegi Ujaalo Ki Tarah,
Aap Mujhe Chah Lain Agar Chahne Walon Ki Tarah.

 

मेरी तक़दीर संवर जाएगी उज्जालो की तरह ,
आप मुझे चाह लें अगर चाहने वालों की तरह !!

 

Jo Munh Tak Ud Rahi Thi Ab Lipti Hai Paanv Se,
Barish Kya Hui Mitti Ki Fitrat Badal Gayi.

 

जो मुँह तक उड़ रही थी अब लिपटी है पाँव से,
बारिश क्या हुई मिट्टी की फितरत बदल गई।

 

दिल का हाल बताना नहीं आता ,
हमें एसे किसी को तडपना नहीं आता !!

 

Duniya Mein Rah Kar Sapno Me Kho Jaao,
Kisi Ko Apna Bana lo Ya Kisi Ke Ho Jaao.

 

अच्छा तो तेरे ज़रिए आज़माइश हुई मेरी,
हाय’ तुझे छीन कर मुझ से, मुझे सब्र सिखाया गया.!!

 

Bahut aasan hai dard ko chupaana,
Par nahi aasan kisi apne ko bhulaana

 

चेहरे लाख देखे हैं, मग़र रूह में कोई बसा नहीं,
एक तेरे ख्याल के सिवा मुझको कोई नशा नहीं।

 

Tu Badnaam na ho isliye ji raha hu mein,
Varna marne ka iraada to roj hota hai.

 

पता है नहीं रख सकते हम.. अपनी धड़कनों पर काबू..
फिर क्यों हमारी मोहब्बत का..इम्तिहान लेते हो.

 

तेरे बिना मैं और, ना मेरा इश्क ही पूरा है..
जैसे धड़कन: बिना दिल अधूरा है !!

 

Jiske Lafzon Mein Hame Apana Aks Milta Hai,
Bade Naseebo Se Aisa Koi Shakhs Milta Hai.

 

जिसके लफ़्ज़ों में हमे अपना अक्स मिलता है,
बड़े नसीबों से ऐसा कोई शख़्स मिलता है।

 

शायरी भी लफ्जों की…पेचीदा शतरंज है
निशाना किसी और पे…पर घायल कोई और है..

 

Khuda ab jo meri kahani likhna Masoom se Bachpan
me hi mar jau aisi zindgani meri likhna

 

बाते करो मोहब्बत की मगर जरा होश रखना
बड़ा मासूम चेहरा होता है, इन बेवफ़ाओ का…!!

 

साहिब -ए -अक्ल हो तो एक मशवरा तो दो !
एहतियात से इश्क़ करुं, या इश्क़ से एहतियात…!!

 

Kuch aise haadse bhi zindagi me hote hain ke
insaan bach to jata ha magar zinda nhi rehta.

 

खींच लेती है हर बार मुझे तेरी मोहब्बत
वर्ना मैं बहुत बार मिला हूँ आखिरी बार तुझसे.

 

ये ख्वाहिशों के काफिले ठहरे नहीं हैं पल कभी,
ये दिल के बेकरारियां हलचल है इंतजार की।

 

Tum se mahobbat teri aukat se jyada ki thi
Ab baat nafrat ki hai soch tera kya hoga..

 

अगर हो सकें तो सुकून की एक शाम दे मुझे,
ये ज़िन्दगी थोड़ा सा तो आराम दे मुझे.

 

Ajeeb Saboot Manga Usne Meri Mohabbat Ka
Ki Mujhe Bhool Jao To Manu Mohabbat Hai

 

अब मैं तजुर्बे के मुताबिक़ खुद को ढाल लेता हूं ,
जब कोई प्यार जताए तो जेब संभाल लेता हूं.

 

Zakham de kar na puch dard ki shiddat….
Dard to phir dard hai, kam kya, zeyaada kya.

 

ज़ख़्म दे कर न पूछ दर्द की शिद्दत….
दर्द तो फिर दर्द है, काम क्या, ज़्यादा क्या

 

Kuch aise haadse bhi zindagi me hote hain ke
insaan bach to jata ha magar zinda nhi rehta

 

बहुत मजबूर हो कर में तेरी आंखों से निकला,,,
खुशी से कौन अपने मुल्क से बाहर जाता है…

 

खुशियाँ हमारे पास कहां ‘मुस्तक़िल’ रहीं,,
बाहर कभी हंसे भी, तो घर पर आकर रो पड़े..!!

 

जिंदगी में अच्छे बुरे बहुत लोग मिलते हैं
मगर इनमें वो चंद होते हैं जिन्हें देखकर दिल खिलते है.

 

वो दरिया ही क्या जिसमे हम डूबे ना,
और वो आँखे ही क्या जिसमे हम भीगे ना….

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.