[10+Best ] Love Sad Poem in Hindi | दर्द भरी रोमांटिक कविताएँ

[10+Best ] Love Sad Poem in Hindi | दर्द भरी रोमांटिक कविताएँ | Love Sad Poem Hindi Mein | दर्द भरी रोमांटिक कविताएँ | Tute dil ki Kavita in Hindi | दिल टूटने की कविता | Heartbreaking Poems in Hindi.

Love Sad Poem in Hindi

तेरी यादों के बिस्तर मैं ओढ़ता बिछाता हूँ
भर कर के बाँहों में तुझसे लिपट जाता हूँ.

तेरी यादों…….।

जब तन्हा हो जाता हूँ तेरी जुदाई से
लगा तकिये को सीने से सो जाता हूँ

तेरी यादों के बिस्तर….।

खो तो मैं बहुत पहले गया था तेरी आँखों मे
हर रोज तुझे ख्वाबो में तुम्हे ही बुलाता हूँ

तेरी यादों के…….।

आज भी तेरा ही मुन्तजिर हूँ ऐ राज
अक्स तेरा ही ठहरे हुए पानी पे बनाता हूँ।

तेरी यादों के……।

अब तो अजनबीपन छोड़ो मुझे अपना बना लो
संग तेरे ही हर सपना अब तो मै सजाता हूँ।

तेरी यादों के… ।।।

Love Sad Poem in Hindi

ये दर्द हमारा है इसे हम ही झेलेंगे
लोंगो का क्या है सिर्फ जख्मो को हवा देंगे।
तुफानो की कश्ती में बसर है मेरा
कभी हम छू लेंगे कभी वो छू लेंगे

ये दर्द हमारा है……😢।

हालात हर पल बिगड़ता ही जा रहा है ऐ राज
खुद के कंधे को समझ तेरा कंधा रो लेंगे

ये दर्द हमारा है इसे……😢।

हो गयी है अब तो मोहब्बत के नाम से नफरत
किसी रात एक गहरी नींद हम भी सो लेंगे

ये दर्द हमारा है इसे……😢।

हमने कब कहा था कि मुझे तू अपना मुकद्दर समझो
गर तेरा नाम ही मिला होता तो हम भी जी लेते

ये दर्द हमारा है इसे……😢।

 

Love Sad Poem in Hindi

मैं रेत का दरिया हूँ तू बहता हुआ पानी हैं
हम दोनों की मिलती जुलती कहानी है
तू शोलो को ठंडा करती है
मेरा दिल शोलो की रवानी है

मैं रेत का दरिया

जब क़भी तू मिलती है मुझसे अनजाने में
मैं थक सा जाता हूँ खुद को बचाने में
होता है जिक्र मेरा भी जब कोयी कहता है ठहरा हुवा पानी है.

मै रेत का दरिया

आ अब हम दोनों एक दूजे के हो जाये
तू मुझमे मिल जाये हम तुझमे खो जाए
फिर दोनों कहेंगे ये तो मौजो की रवानी है

मैं रेत का दरिया

जब चढ़ जाएगी अपनी मोहब्बत परवान
ऐ राज हो जाएगी बस्ती बस्ती जब बिरान
एक दूजे से लोग कहेंगे ये दो दिल की कहानी है.

मैं रेत का दरिया हूँ….||

 

Love Sad Poem in Hindi

 

जब से मै तुमसे प्यार कर बैठा हूँ
ऐ दोस्त खुद का कातिल बन बैठा हूँ
ना निग़ाहों को सुकून मिलता है
न दिल मे करार आता है

जब तुझ पर टूटकर
ऐ राज मुझको प्यार आता है
खुद के हाथों खुद का शिकार कर बैठा हूँ

जब से मै तुमसे प्यार कर बैठा हूँ।

पल भर भी साथ तू मुझकों
अपना देता नहीं है
दिल मेरा तड़पता है बहुत
मगर रोता नही है
उम्मीद से ज्यादा तेरा इंतजार कर बैठा हूँ

जब से मै तुमसे प्यार कर बैठा हूँ।

नींद आंखों से गई
ख्वाब भी आते नहीं ख्वाब में
अक्सर डर ही जाता हूँ
तेरे इंतजार की रात में
अब तो मै दर्द के दर्द को पार कर बैठा हूँ

जब से तुमसे प्यार कर बैठा हूँ।।

 

Love Sad Poem Hindi Mein

 

कितनी देर और हम उनसे नजरें चुराते
दिल लगा ही लिया दिल चुराते चुराते

कितनी देर और….।

रहा नही अब जोर सांसों पे अपने
सजने लगे है अब रोज नए सपने
उन्ही का हो गया अपना बनाते बनाते

कितनी देर और….।

हर बात में होती है उन्ही की बाते
बड़ी मुश्किल से कटती आजकल मेरी राते
नाम उन्ही का लेकर पुकारा किसी और को बुलाते बुलाते

कितनी देर और….।

बड़ा ग़जब का मोहब्बत का आगाज है
जिंदा तब तक हूँ जब तक उनका साथ है
ऐ राज दिल दे आया उन्हें दिल चुराते चुराते

कितनी देर और…….।।

 

Sad Lonely Poem In Hindi‌

 

देखते देखते उजड़ सा गया है आशियाना मेरा
जब से कम हुवा है ईधर आना जाना तेरा

देखते देखते उजड़…….।

किससे बातें करू किससे कहू हाले दिल
जब कोयी अपना ही बन गया है कातिल
अंदाज अब हो गया है शुफ़ियाना मेरा

देखते देखते उजड़…….।

तुमने तो होश छीना था मेरा हमदम बनकर
कह कर के एक बार देखता जान भी दे देता हँसकर
जब से बिछड़ा हूँ मै तब से बन गया है तमासा मेरा

देखते देखते उजड़ सा…….।

तुझे भूल जाऊ ये मेरी सोच के हद में नही है
बिछड़ कर तुमसे जी पाऊं ऐ राज मेरे बस में नही है
कन्धे पे तेरे ही जायेगा एक दिन जनाजा मेरा

देखते देखते उजड़ सा गया……।।।

 

Love Sad Poem Hindi Mein

 

गले से लिपटकर न जावो सनम
खून के आँसू हमकों न रुलावो सनम

गले से लिपटकर……।

दर्द दिल का हमारे अब बढ़ने लगा है
दर्द से दिल मेरा तड़पने लगा है
गम को छुपाकर न मुस्करावो सनम

गले से लिपटकर……।

न करो हम से आज फिर वादा झूठा
अब तलक तेरा है हर वादा टूटा
अश्क आँखो के आँखो में न छुपावो सनम

गले से लिपटकर……।

माना कि दिल मे तेरे प्यार भरपूर है
ऐ राज माना कि हालात से तू मजबूर हैं
जुदाई में कैसे जीते हैं मुझे भी सिखावो सनम

गले से लिपटकर न जावो सनम।।

 

Love Sad Poem In Hindi

 

अब तो कोयी आता नही मेरा हाले दिल पूछने
सब लोग दूर से ही मजा लेते हैं
आग कैसी लगी है दिल मे हमारे
बिना देखे ही सब लोग हवा देते हैं

अब तो कोयी…….।

कोयी मिलने भी आता नहीं है पुरानी दहलीज पर
पूछने पर कहते है सब अपने ही जुदा होते हैं.

अब तो कोयी आता……।

जब कभी रूबरू होने की कोशिश भी हमने
आजकल राज वो मुस्कराकर नजरे फेर लेते है.

अब तो कोयी आता…….।

हमने भी समझा लिया है अब अपने दिल को
ये दुनिया वाले ऐसे ही बेरहम होते हैं.

अब तो कोयी आता नही…….।

 

Love Sad Poem in Hindi

कुछ पल जमाने ने दिए हमको जो मुस्कराने नही देते।
हम वो चीज है खुद को आजमाने नही देते।।

कुछ पल जमाने ने……

वो चाहते है कि मैं उनकी रहगुजर में रहूँ
लेकिन हम भी उनको अपने पते ठिकाने नही देते।

कुछ पल जमाने ने……।

उनके दिये हुए हर जख्म को हमनें हरा रख्खा है
डॉक्टर को भी मरहम लगाने नही देते।

कुछ पल जमाने ने…..।

उन्होंने कहाँ कसर छोड़ी थी हमको मिटाने में
हम तो हवा को भी छूकर जाने नही देते।

कुछ पल जमाने ने……।

बड़ा ग़जब का सिला दिया तुमने मेरी मोहब्बत का
तुम मेरे होते नही हो राज और किसी को
अपना बनाने नही देते।।

कुछ पल जमाने ने……..।।