Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari | लड़की को इंप्रेस करने के लिए शायरी

Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari

लड़की को खुश करने के लिए शायरी, Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari, लड़की को इंप्रेस करने के लिए शायरी, लव इम्प्रेस शायरी इन हिंदी, ladki ko impress karne ke sms, लड़का और लड़कियों की शायरी, ladki ko impress karne wali shayari in urdu, गर्ल इम्प्रेस शायरी इन हिंदी, ladki ko impress karne wale word in english.

Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari

ज़िन्दगी जिंदा रहते कभी सुकून नहीं देती और….
मौत.. आंखें बंद करते ही सुकून दे देती हैं….

 

जिस दिन भी ठहरेंगे, खुद ही खबर कर देंगे हम ।
कोई मौत से तो कह दे अभी सफर मे हैं हम ।।

 

ऐ हादसा किसी दिन गुज़र ने वाला था ।
में बच भी जाता तो एक दिन मरने वाला था ।
मेरा नसीब मेरे हाथ कट गए।
वर्ना मे तेरी माँग में सिंदूर भरने वाला था।

 

मौत के बाद की ख़ामोशी देखी है?
अपने अंदर वही महसूस कर रही हूं।।

 

पहले जिन्दगी छीन ली मुझसे,
अब मेरी मौत का वो फायदा उठाती है,
मेरी कब्र पे फूल चढाने के बहाने,
वो किसी और से मिलने आती है।

 

हर लम्हा हर पल हर याद आती रहती है मुझे,
ऐ खुदा! तूने सब को संभाला है,
फिर मुझे क्यों बिखेरा है, ये तेरा रचाया कोई खेल
या फिर मेरे आते हुए दिन की मौत का सवेरा है !!!

 

लाखों परिंदे की मौत तूफान से होती है।
लाखों इंसानों की मौत भूकंप से होती है,
यह ज़िन्दगी का दस्तूर है जनाब ~
मौत के आगे किस की बस चलती है |

 

बहुत थक सा गया हूँ ऐ जिंदगी तुझसे
अब तो सोचता हूँ की मौत की चादर ओढ़ के
सो जाऊँ ….. !!!!

 

ये भी पढ़े :- बेस्ट 165+ लव शायरी हिन्दी मे

 

मौत को जब आनी है तब आयेगी,
हमें जब ले जाना है तब ले जायेगी,
अभी हमे आपसे जीने की वजह मिली है,
अब हमें मौत भी जुदा न कर पाएगी !!

 

मौत से कह दो गुरूर न करै खुद पर,
मुझे इश्क़ ने छू लिया है…
हर रोज़ तड़पकर मरतें हैं ।

 

मौत को देखा तो नहीं, पर शायद वो बहुत
खूबसूरत होगी, कम्बख़त जो भी उस से मिलता है,
उसी का हो जाता है।

 

वो हमसे मोहब्बत कुछ इस तरह,
निभा गए जीते जी तो हमारी कभी कदर नहीं की,
मरने के बाद हमारे कब्र पर उनके कीमती आंसू बहा गए!

 

Ladki ko impress karne ke sms

 

मैंने अपनी आंखो से मेरी मौत का मंज़र देखा है
अपने कुछ खास के हाथों में खंजर देखा है…
क्या सुनाऊं अपनी जिंदगी की दास्तां
अपने ही कंधे पे आस्तीन का सांप देखा है.

 

जिदंगी इतनी भी नफरत न कर मुझसे,
कि मुझे मौत से मोहब्बत हो जाये।

 

सिर्फ तुम्हारा होना चाहते है,
किसी और का होने के,
लिए मजबुर ना करे,
इतना भी मत तडपाना की,
हम जिंदगी से हार जाए,
और मौत को गले लगाए!

 

सुनो तो दोस्तो….
किसी की यादो को भुलने के लिए कोई मंत्र है क्या ??
किसकी मोहब्बत के लिए तडप रहे है ….
खुदखुशी छोडके कोई और उपाय है क्या ??

 

सब पुराना है
कुछ नया कहा से लाऊँ……..?
अगर कुछ नया ही चाहिए तो
मैं अपनी मौत की खबर सुनाऊ…….?

 

मौत का मंजर भी कितना खूब होगा,
ना समय पर लौटने भय,
ना किसी को मेरा इंतज़ार होगा,
दे जाऊंगी आंखो में आशुं
और दिल यादों का शमा गुलजार
होगा।

 

मौत तो तुमने हमें कब कि दे दिया,
पर क्या करें तुम्हारी यादों में जिंदा हैं!!

 

जो में न कर सकी,
मेरी कहानी मेरे बाद कर गयी,
उस गैर की याद कुछ ऐसी थी,
मरने के बाद मुझे आबाद कर गयी।

 

भरोसा था तुम आओगे ज़रूर,
पर इल्म नहीं था,
की मौत तुमसे पहले आ जाएगी।

 

भाग कर जाओगे कहां…
दुनिया की भीड़ में खुद को छुपाओगे कहां
रास्ते अनन्त है यहां….
मौत से पहले राहों को छोड़ पाओगे कहां।।

 

Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari

 

जिन्दगी हैं तो प्यारा ये सारा जहान लगता है, वरना
मौत के बाद किस्मत में तो बस शमशान ही मिलता!!

 

मेरे मरने के बाद उफ़ वो भी कैसे कैसे नजारे होंगे,
कुछ लोग जबरदस्त रो रहे होंगे,
तो कुछ लोग जबरदस्ती रो रहे होंगे!

 

मेरी औकात तो अन्त में एक सफ़ेद चादर की रहेंगी !
जिसे ओढने की मुझमें ताकत भी नहीं रहेंगी !!

 

मौत के वक्त याद आई इक बात
रगड के धोया काया को,फिर भी न गई साथ,
जोड कर रखी माया खूब,न रखी किसी के हाथ,
मल न धोया अपने मन का,अब होने चले खाक!

 

मौत के वक़्त
जीने की उम्मीद बाकी रहती है।
और जब जिंदा रहते है,
तो मौत की चाहत रखते है।

 

अरे सुनो ये मौत का पैगाम आया है,
कुछ दिनों की जिंदगी मेरे नाम आया है,
आज हूँ कल नहीं रहूंगी मैं,
फिर ये नाराजगी किस काम आया है…

 

यूं खुद से परेशान होकर
मौत को गले लगा नहीं सकती,
परेशानियां तो बहुत है जिंदगी में
मगर मै किसी को बता नही सकती!!

 

हां अब मौत को कह दो
की,हमे उसकी आगोश मे
लेकर एक आखरी ऐहसान कर दे
और जो मोहब्बत मे कैद थे,हमारे
उन्हें जल्दी से रिहा कर दे।

 

अपने आगोश में ले ले मुझे
ऐ मौत.. सुना है तू बड़ी खूबसूरत है ..!!

 

मौत का मौसम है,नई वफा आई है
सांस लेने पर भी इक , सजा आई है
जान छोड़ती नही , जान जाने तलक
ए इश्क़ तेरी टक्कर कि बला आई है!

 

ऐ ख़ुदा मौत देदे मुझे, सुना है मरने के बाद,
बिछड़ने वाले भी देखने आते है…!!

 

Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari

 

चूम कर कफ़न में लपटे मेरे चेहरे को
उसने तड़प के कहा,
नए कपड़े क्या पहन लिए, हमें देखते भी नहीं’।

 

अब मौत से कह दो कि नाराज़गी खत्म कर ले,
वो बदल गया है जिसके लिए हम ज़िंदा थे!

 

थोड़ी तस्सली चाहती हूं “जिंदगी तुझसे
या फिर सुकून की मौत” चाहती हूँ तुझसे

 

ज़िंदा लाशो की भीड़ है चारो तरफ,
मौत से भी बड़ा हादसा है ज़िन्दगी!

 

अब तेरा नहीं,
मेरी मौत का इंतजार रहेगा,
अब सनम ए जिंदगी से नही
सनम ए मौत से प्यार होगा!

 

अब उस मुकाम पर मेरा जुनून आ जाये_
तुझे जो मुँह से पुकारूँ तो खून आ जाए

 

हमारे मरने के बाद हमारा एक बार दिदार करने आना जरुर,
हम अपनी पलकें खुली रखेंगे तुम्हारा दिदार
करने के लिए……।

 

मुसीबत ए मौत में कोई मिलने नही आयेगा,
हम मर भी गये न अगर तो कोई रोने नही आयेगा!

 

मौत का भी क्या कहना!
जब जिन्दगी जीने की बारी आती है
तब मौत गले लगाकर
अपने साथ दूर कही ले जाती है..

 

ज़िन्दगी ईतनी आसान नहीं जितनी तुम समझते हो,
हक़ीक़त तो मौत है और तुम ज़िन्दगी को समझते हो।

 

सूनो…
अच्छा लगा ये जान कर
की तुम रह लेते हो मेरे बिना…!
अब मौत भी आये….
तो हम सुकून से सो सकते हैं।।

 

Ladkiyo ko Impress Karne ki Shayari

 

सब कुछ उल्टा लिखा है खुदा ने मेरे लिए,
सुख चाहूं तो दुख मिलता है,
इश्क चाहूं तो नफरत,
फूल चाहूं तो कांटे,
तो जिंदगी का उल्टा क्यों नही मिल रहा है!

 

आसमान के परे मुकाम मिल जाए,
खुदा को मेरा ये पैगाम मिल जाए,
थक गयी है धड़कनें अब तो चलते चलते,
ठहरे सांसे तो शायद आराम मिल जाए!

 

तुम दर्द भी हो मेरा और दर्द की दवा भी हो,
मेरी मौत का कारण भी हो तुम, जीने की वजह भी हो,
खुली नज़रो से तुम दूर हो बहुत मुझसे,
बंद आँखों में हर जगह मेरे पास भी हो तुम।

 

कब तक सबको झुठी मुस्कान दिखाऊंगी,
इस दीपावली खुशी के मौके पर
अपना दुख सबको दिखाऊंगी,
गर ना हुआ कम मेरा दर्द तो
खुद को दीये के साथ जला जाऊंगी!!

 

जिंदगी मे हमेशा सबकी “कमी” बनो,
पर कभी किसी की “जरुरत” नहीं,
क्यूंकि “जरुरतें” तो हर कोई पूरी कर सकता हैं,
पर किसी की “कमी” कोई पूरी नहीं कर सकता ..!