26 January Shayari in Hindi | गणतंत्र दिवस पर शुभकामना

By Shayari Mirchi

Updated on:

26 January Shayari in Hindi

26 January Shayari in Hindi | गणतंत्र दिवस पर शुभकामना संदेश | Republic Day par Shayari | गणतंत्र दिवस पर मंच संचालन शायरी | Republic Day Wishes in Hindi | गणतंत्र दिवस पर शायरी 2024

26 January Shayari in Hindi 2024

मुझे ना तन चाहिए,
ना धन चाहिए बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए और
जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये।

————————————–

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।
जय हिन्द… जय भारत

————————————–

चलो फिर से खुद को जगाते हैं…
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं…
सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से…
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते हैं।
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

————————————–

ना सरकार मेरी है , ना रौब मेरा है,
ना बड़ा सा नाम मेरा है।
मुझे बस एक छोटी सी बात का अभिमान है,
मैं हिंदुस्तान का हूँ और हिंदुस्तान मेरा है।

————————————–

जब आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो:
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान की हो:
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन,
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।

————————————–

दिल हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे हो जायेंगे कुर्बान,
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।

————————————–

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

————————————–

26 January Shayari in Hindi

ना मरो सनम बेवफा के लिए
2 गज जमीन नहीं मिलेगी दफन के लिए
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी कफ़न के लिए!!

————————————–

मिलते नही जो हक वो लिए जाते हैं,
है आजाद हम पर गुलाम किये जाते हैं,
उन सिपाहियों को शत शत नमन करो,
मौत के साए में जो जिए जाते हैं।।

————————————–

इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना..
लहू देखकर की जिसकी हिफाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को सदा अपनी आंखों में बसाये रखना.

————————————–

इश्क तो करता है हर कोई,
महबूब पर मरता है हर कोई,
कभी वतन को महबूब बना कर देखो,
फिर तुझ पर मरेगा हर कोई।
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

————————————–

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बूँद भी लहू की तब तक,
भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे।

————————————–

26 January Shayari in Hindi

देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है.
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

————————————–

वतन हमारा ऐसे न छोड़ पाए कोई,
रिश्ता हमारा ऐसे न तोड़ पाए कोई,
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान.

————————————–

सभी भारत वासियों को रिपब्लिक डे
की हार्दिक शुभकामनाएं मेरी दुआ है
मेरे देश पैर किसी की नज़र न लगे ऐसे
ही फूलों की तरह महेकता रहे ।

————————————–

इस दिन के लिए वीरो ने अपना खून बहाया है,
झूम उठो देशवासियों गणतंत्र दिवस फिर आया है.
ना सर झुका है कभी और ना झुकायेंगे कभी,
जो अपने दम पे जियें सच में ज़िन्दगी है वही

————————————–

26 January Shayari in Hindi

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

————————————–

वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की तोड़ता है
दीवार नफरत की मेरी खुश नसीबी मिली
ज़िन्दगी इस चमन में . भुला न सके कोई इसकी
खुशबु सातों जनम में।

————————————–

चलो फिर से खुद को जागते है
अनुसासन का डंडा फिर घूमाते है
सुनहरा रंग है गणतंत्र का सहीदो के लहू से
ऐसे सहीदो को हम सब सर झुकाते ।

————————————–

मेरे देश का मान हमेशा बनाये रखूँगा
दिल तो क्या जान भी इस पर निछावर करूँगा अगर
मिले मौका देश के काम आने का तो बिना
कफ़न के ही देश के लिए सो जाऊंगा ।

————————————–

Shayari Mirchi

Related Post