Shayari on Beautiful Girl in Hindi | सुन्दर लड़की के लिए शायरी

By Shayari Mirchi

Updated on:

Shayari on Beautiful Girl | खूबसूरती पर शायरी | Shayari on Beauty in Hindi | सुंदरता शायरी इन हिंदी | Shayari on Beautiful Face in Hindi | खूबसूरती की तारीफ शायरी..

Shayari on Beauty in Hindi

 

फ़लक के तारों से क्या शिकायत करते।
जब अपने ही चिराग़ों से रोशनी न मिली।

 

यूँ ना खिंच हमें अपनी तरफ़ बेबस कर के,
ऐसा ना हो…ख़ुद से भी बिछड़ जाऊँ और तु भी ना मिले।

 

रोक कर बैठे है…ज़िंदगी को,
कि तुम आओ तो जीना शुरु करें…।

 

आसमां में खलबली है सब यही पूछ रहे हैं,
कौन खड़ा है ये ज़मीं पे चाँद सा चेहरा लिए।

 

आज फिर उसकी याद आ गई
जब पान वाले ने पुछा कितना चूना लगाऊ !!

 

तेरे वजूद से हैं मेरी मुक़म्मल कहानी…
मैं खोखला सीप और तू मोती रूहानी !!

 

आज उसकी मासूमियत के कायल हो गए,
सिर्फ उसकी एक नजर से ही घायल हो गए।

 

एक तू है जो पराया नही लगता है,
वरना सारा शहर सुनसान लगता है।।

 

उम्मीद है मुझे की तुम्हे सिर्फ़ मुझसे इश्क़ होगा,
पर एक ख्याल ये की तुम्हे सिर्फ़ मुझसे ही क्यूं इश्क़ होगा ।।

 

तेरे श्रंगार में शामिल हो मेरा भी हिस्सा,
तेरे चेहरे पर मैं भी कहीं तिल हो जाऊं..

 

बहुत अकेले हो गए है हम,
अब तुम्हारी तरह कोई समझता नहीं है हमें..

 

तुम मेरी वो कमी हो
जो कोई भी शख्स पूरी नहीं कर सकता_!! 💞

 

साँसों का टूट जाना तो बहुत छोटी सी बात है दोस्तो
जब अपने याद करना छोड़ दे, मौत तो उसे कहते है।

 

मौसमी शय नहीं है, ये मोहब्बत….
कीजिए गर…तो फिर सदा कीजिए_!!

 

तेरी खैरियत का ही जिक्र रहता है दुआओ मे मसला
सिर्फ़ मोहब्बत का ही नहीं फ़िक्र का भी है.

 

ऐ खुदा इतनी सी उम्र चाहिये मुझे
ना मरू उससे पहले ना जिऊँ उसके बाद

 

आज फिर आँखे भर आयी तुम्हारी याद में,
माँ ने पूछा की अब याद भी करती हे की नहीं वो?

 

कैसे भुला दूँ उस भूलने वाले को मैं,
मौत इंसानों को आती है यादों को नहीं….

 

होश-ए-हवास पे काबू तो कर लिया मैंने,
उन्हें देख के फिर होश खो गए तो क्या होगा।

 

लबों तक आकर भी जुबां पर न आए
मोहब्बत मे सब्र का वो मुकाम हो तुम..!!

 

फूल सबनम में डूब जाते है झख्म मरहम में डूब जाते है, जब आते है खत तेरे हम तेरे गम में डूब जाते है.

 

उसको औरत के दुख का पता हैं अर्श
की वो एक लड़का हैं जो बेवा का पाला हुआ…!!

 

हर वक़्त फिज़ाओ में महसूस करोगे तुम ये हीर
मै प्यार की खुश्बू हूँ महकूँगा जमाने तक।

 

जरूरी नहीं इश्क़ में बाहों के सहारे ही मिले..
किसी को जी भर के महसूस करना भी मोहब्बत है.

 

दुपट्टा क्या रख लिया सर पर दुल्हन सी नजर आने लगी..❣️
तुम्हारी तो अदा हो गई हमारी तो जान जाने लगी

 

कैसे भुला दूँ उस भूलने वाले को मैं,
मौत इंसानों को आती है यादों को नहीं….

 

खुद ही का तमाशा बनाकर खुद से ही दूर हुए हम
जितने हमने दर्द लिखे उतने ही मशहूर हुए हम..!!

 

हल्का हवा का झोंका भी तूफान बना दे।
वो नदी इस कदर साहिल के उफ़क पे है।

 

मेरी आँखों में हादसे ज्यादा बेशुमार है,
तेरा ही इश्क़ तेरा ही दर्द तेरा ही इंतज़ार है।

 

चॉकलेट और गुलाब तो सब देते हैं
मैं तुम्हें बर्तन धोने वाला साबुन दिलाऊंगा !!

 

वो बेवफा है तो क्या मत कहो बुरा उसे
जो हुआ सो हुआ खु़दा खुश रखे उसे…

 

पहले सौ बार इधर और उधर देखा है
तब कहीं डर के तुम्हें एक नज़र देखा है !!

 

ये दिल भी तो डूबेगा समंदर में किसी के…
हम भी तो लिखे होंगे मुकद्दर में किसी के…!✍🏻

 

कब कहाँ किसी हकीम से इश्क़ का मर्ज सुधरता है
मोहब्बत की सीढियां जो चढ़ता है वही उतरता है।

 

मेरी दुआ है तुम्हें वो सब कुछ मिले ये जाना
जिसके लिए तुम्हें मेरी क़ुर्बानी देनी पड़ी..

 

यू तो अकेला गिर कर फिर से संभल सकता हूं मैं
गर तेरा साथ मिल जाए तो दुनिया बदल सकता हूं मैं।

 

ख्वाइश यह नहीं की तारीफ सब कोई करें बस कोशिश यही है कोई गलत ना करें।

 

मासूमियत तुझमे है पर तू इतना मासूम भी नहीं
मैं तेरे कब्जे में हूँ और तुझे मालूम भी नहीं.

 

वो कहती थी हर मोड़ पर तुम्हारा साथ दूंगी .
आज गेहूं काटने का_Time_आया तो_Call_नहीं उठा रही है !!

 

तुम कभी मुझसे खुल कर कुछ बोलती नहीं
मुझे बीच भंवर छोड़ जाने का इरादा है क्या

 

Shayari on Beauty in Hindi

भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद
यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रक्खा है।

 

बो आयने में खुद को कैसे बर्दाश्त करते होंगे,
उन्हें तो सख्त नफ़रत थी धोखेबाजों से।

 

मुझे सबसे अलग रखना ही उसका शौक़ था वरना
वो दुनिया भर का हो सकता था मेरा क्यों नहीं होता।

 

हसरत बन के..ठहरी हुई है तू ,
हकीकत बन के..मेरे संग बह जा !!

 

रोज इक ताज़ा शेर कहाँ तक लिखूं तेरे लिए,
तुझमें तो रोज ही एक नई बात हुआ करती है।

 

बड़ी मुश्किल में हूँ ऐ दिल, कैसे इज़हार करूँ
वो तो खुशबू है, उसे कैसे गिरफ्तार करूँ !!

 

झूठ लिखूँ तो तुझ को अपना लिखूँ मैं,
सच लिखूँ तो खुद को तेरा लिख दूँ मैं !!

 

कसा हुआ तीर हुस्न का, ज़रा संभल के रहियेगा,
नजर नजर को मारेगी, तो क़ातिल हमें ना कहियेगा।

 

मुझे तो क़ैद-ए-मोहब्बत अज़ीज़ थी लेकिन
किसी ने मुझ को गिरफ़्तार कर के छोड़ दिया !!

 

कुछ अनूठा ही रिश्ता है मेरा उस शख्स से,
उसे सोचने से कभी सुकून मिलता है तो कभी बेचैनी !!

 

तेरे चेहरे की हंसी बता देती है मुझे…
अभी – अभी छू के गुजरा है…मेरा ख्याल तुझे !!

हर किसी के नसीब में कहाँ होती हैं चाहतें…
कुछ लोग दुनिया में आते हैं तन्हाइयों के लिये_!!

 

एक तुम्हीं तो थे गर्मी का सहारा
तुम्हें पता चला तो तुम्हारे भी भाव बढ़ गए_!!

 

मकान तो एक भी अच्छा नहीं था उसकी गली में
मगर एक दरवाजा बेहद खूबसूरत लगता था_!!

 

वो जो कहते थे हम आपसे ही बात करते हैं,
वो ना जाने अब कितनों से बात करते हैं..🥺

 

दुपट्टा क्या रख लिया सर पर दुल्हन सी नजर आने लगी..
तुम्हारी तो अदा हो गई हमारी तो जान जाने लगी_!!

Shayari Mirchi

Related Post