Bewafa Shayari in Urdu | 150+ सैड उर्दू शायरी इन हिंदी 2022

Bewafa Shayari in Urdu | सैड शायरी इन हिंदी फॉर बॉयफ्रेंड | Hindi Sad Shayari For Girlfriend | हिन्दी सैड शायरी 2022  | सैड उर्दू शायरी इन हिंदी  | Hindi Sad Shayari For Boys | सैड शायरी हिंदी में लिखी हुई.

Bewafa Shayari in Urdu 2022

रात क्या ढली सितारे चले गए;
गैरों से क्या शिकायत जब हमारे चले गए;
जीत सकते थे हम भी इश्क़ की बाज़ी;
पर उनको जिताने की धुन में हम हारे चले गए।
——————————————————

हंसता हुआ चेहरा तन्हाई में रोता है,
दिल कितना भी मजबूर हो दर्द तो होता है!
माना कि दूर है हम आपसे मगर,
जुदाई से तो रिश्ता और भी मजबूत होता है!!
————————————————-

हाथ खाली हैं तेरे शहर से जाते-जाते,
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते,
अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है,
उम्र गुजरी है तेरे शहर में आते जाते

—————————————-

दिलों को खरीदने वाले लोग हज़ार मिल जायेंगे;
तुमको दगा देने वाले बार-बार मिल जायेंगे;
मिलेगा न हमें तुम जैसा कोई;
मिलने को तो लोग हमें बेशुमार मिल जायेंगे!

——————————————

उनके होंठों पे मेरा नाम जब आया होगा;
ख़ुद को रुसवाई से फिर कैसे बचाया होगा;
सुन के फ़साना औरों से मेरी बर्बादी का;
क्या उनको अपना सितम न याद आय होगा?

————————————————

Hindi Sad Shayari For Girlfriend

मोहब्बत से वो देखते हैं सभी को,
बस हम पर कभी ये इनायत नहीं होती;
मैं तो शीशा हूँ टूटना मेरी फ़ितरत है,
इसलिए मुझे पत्थरों से कोई शिकायत नहीं होती।

—————————————-

जो आँसू दिल में गिरते हैं वो आँखों में नहीं रहते;
बहुत से हर्फ़ ऐसे हैं जो लफ़्ज़ों में नहीं रहते;
किताबों में लिखे जाते हैं दुनिया भर के अफ़साने;
मगर जिन में हक़ीक़त हो वो किताबों में नहीं रहते।

————————————————–

दिल से मिले दिल तो सजा देते है लोग;
प्यार के जज्बातों को डुबा देते है लोग;
दो इँसानो को मिलते कैसे देख सकते है;
जब साथ बैठे दो परिन्दो को भी उठा देते है लोग…

———————————————-

रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है;
ना चाहते हुए भी प्यार होता है;
क्यू देखते है हम वो सपने;
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने;
का इंतेज़ार होता है।

————————————————

सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें,
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।

———————————————-

Hindi Sad Shayari For Girlfriend

हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है;
शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है;
कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम;
और एक वो है, जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है।

 

हर वक़्त का हंसना तुझे बर्बाद ना कर दे;
तन्हाई के लम्हों में, कभी रो भी लिया कर;
ए दिल तुझे दुश्मन की भी पहचान कहाँ;
तु हल्का-ए-याराना में भी मोहतात रहा कर।

 

जाने क्यों अकेले रहने को मज़बूर हो गए;
यादों के साये भी हमसे दूर हो गए;
हो गए तन्हा इस महफ़िल में;
कि हमारे अपने भी हमसे दूर हो गए।

 

उन लोगों का क्या हुआ होगा;
जिनको मेरी तरह ग़म ने मारा होगा;
किनारे पर खड़े लोग क्या जाने;
डूबने वाले ने किस-किस को पुकारा होगा।

 

जिंदगी देने वाले, मरता छोड़ गये,
अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये,
जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,
वो जो साथ चलने वाले, रास्तो पर मुझे
अकेला छोड़ गये…!!

 

मत बनाना रिश्ता इस जहां में;
बहुत मुश्किल उन्हें निभाना होगा;
हर एक रिश्ता एक नया ग़म देगा;
एक तरफ बेबस तु और एक तरफ हँसता ज़माना होगा।

 

Hindi Sad Shayari For Girlfriend  2022

कितना समझाया दिल को कि तु प्यार ना कर;
किसी के लिए खुद को बेक़रार ना कर;
वो तेरे लिए नहीं है नादान;
ऐ पागल किसी और की अमानत का इंतज़ार ना कर!

 

खामोश थे हम तो मगरूर समझ लिया;
चुप हैं हम तो मजबूर समझ लिया;
यही आप की खुशनसीबी है कि हम इतने क़रीब हैं;
फिर भी आप ने दूर समझ लिया!

काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती;
काश आपसे मुलाक़ात हमारी ना होती;
सपनो में ही देख लेते हम आपको;
तो आज मिलने की इतनी बेकरारी ना होती!

 

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गई है;
खामोशियों की आदत हो गई है;
ना शिकवा रहा ना शिकायत किसी से;
अगर है तो एक मोहब्बत, जो इन तन्हाईयों से हो गई है।

 

कितना बेबस है इंसान किस्मत के आगे;
कितना दूर है ख्वाब हकीकत के आगे;
कोई रुकी हुई सी धड़कन से पूछे;
कितना तड़पता है यह दिल मोहब्बत के आगे।

 

मैंने रब से कहा वो छोड़ के चली गई;
पता नहीं उसकी क्या मजबूरी थी;
रब ने कहा इसमें उसका कोई कसूर नहीं;
यह कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।

 

Hindi Sad Shayari For Girlfriend

दिल से दूर जिन्हें हम कर ना सके;
पास भी उन्हें हम कभी पा ना सके;
मिटा दिया प्यार जिसने हमारे दिल से;
हम उनका नाम लिख कर भी मिटा ना सके।

 

कुछ आँसू होते हैं जो बहते नहीं;
लोग अपने प्यार के बिना रहते नहीं;
हम जानते हैं आपको भी आती है हमारी याद;
पर जाने क्यों आप हमसे कहते नहीं।

 

जो है चाहत दिल में तेरे, तो इनकार ना कर
मुझे आजमाके मेरे प्यार से इंकार ना कर
दिल तोडना तेरी आदत होगी …….
भरे बाज़ार में मेरे प्यार का व्यापार ना कर

 

तेरे सिवा कोई मेरे जज़्बात में नहीं,
आँखों में वो नमी है जो बरसात में नहीं,
पाने की कोशिश तुझे बहुत की मगर,
तू एक लकीर है जो मेरे हाथ में नहीं।

 

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग… बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *