Two Line Love Shayari in Hindi | दो लाइन हिंदी शायरी {2022}

Spread the love

Two Line Love Shayari in Hindi | दो लाइन हिंदी शायरी | 2 Line Romantic Shayari Hindi | दो लाइन हिन्दी शायरी फेसबुक | Two Line Romantic Shayari in Hindi | Two Line Sad Shayari in Hindi.

Two Line Love Shayari in Hindi

जो हुस्न देखकर… उसे पाना चाहते हैं…
वो भी ख़ुद को आशिक़ बताना चाहते हैं…!!

 

सुनो ना ये दिल नहीं लग रहा आपके बिना
किसी को इतना तड़पना भी… अच्छी बात नहीं…

 

मालूम होता तो लौट जाता मैं वहीं से…
पर… अपनों से इसी सुलूक की उम्मीद थी हमें…!!

 

आपके संग ये दोस्ती से प्यार तक का सफर
बड़ा ही खूबसूरत पल रहा।

 

अगर आपकी इजाजत हो तो ऐसे ही हमें
प्यार से मौत तक का सफर तय करना है।।

 

उड़ गए जो पंछी उनके लिए क्या तरसना साहिब…
जो लोग अपनें आँगन के ना हुए… उनसे दोस्ती कैसी…!!

 

कुछ ज़ख़्म भरते नहीं… वक़्त के भी साथ…
भरोसा नहीं अगर… तो हमसे पूछिए…!!

 

ज़ुल्फ़ों को सँवारना सीख क्यों नहीं लेते…
बेवज़ह रोज़ हमारे दिल को चोटिल होना पड़ता है…!!

 

गुनाह किए जा रहे हैं जिंदगी तेरे साथ साथ…
आए तो थे जीनें मगर… हम जा रहे तेरे साथ साथ…!!

 

मैं मानता ही नहीं खुशहाल शहरों का किस्सा…
मुर्दों की ज़िंदगी है… सुकूँ कैसे मिलेगा…!!

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

सम्भल के निकला करो तुम… घर से रोज़ रोज़…
सड़क पर लोग तुम्हें नज़र लगानें की जद में रहते हैं…!!

 

नकाबों के पीछे की हकीक़त समझना ही… क्यों है…
हकीक़त औऱ ख़ुशी में कई बार मैनें… ख़ुशी चुन ली…!!

 

वो दिन गए जब मोहब्बत थी जान की बाज़ी…
अब किसी से कोई बिछड़े तो मर नहीं जाता…!!

 

मैनें लहज़ा बदलकर भी देख लिया…
उसकी आदत है… वो किसी की नहीं सुनता…!!

 

जब मैं डरा करता था… तूफ़ान बहुत आते थे…
अब मैं नहीं डरता…तो हवा भी ख़ामोश है…!!

 

हमारी एक मुलाक़ात…
उन्हें क्या मालूम कितनीं दुवाओं के बाद मुमकिन हो पाई…!!

 

पसंद नहीं थे ज्यादा मुझे चश्में वाले लोग…
पर आज से ये खयाल मेरा… बदल सा गया है…!!

 

जिसे सोचकर मैं कल से इतना परेशान था…
आज पता चला कि वो तो एक ख़ाब था…!!

 

अपनें साथ खड़े हों… बस यही काफी होगा…
ग़ैरों के चले जानें पर… इतना अफ़सोस नहीं होता…!!

 

कोई बात हो तो कह देना ज़रूर…
वरना तो तुम जानते हो… कि मैं शकल पढ़ लेता हूँ…!!

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

तुम अपनें वाले चाँद को देर तक निहारा ना करो…
हमें घूर कर देखता रहता है…मेरा यहाँ वाला चाँद…!!

 

हर बार बादलों का ही दोष नहीं होता…
ज़मीं की भी ख़ाहिश होती है कि बरसात हो जाए… !!

 

जिस जिस नें रौशनी को है बुरा भला कहा…
मालिक करे उसे अंधेरा नसीब हो…!!

 

अपनों कमरों से की है मैनें… दोस्ती इस तरह…
कि अब किसी ग़ैर के आनें की ज़रूरत ही नहीं है…!!

 

आज भी कुछ समझ नहीं आया क्या हुआ…
मैं बैठा रहा… औऱ अश्क़ बहते रहे… !!

 

जो नहीं जानते… उनसे क्या…
औऱ जो जानते हैं… उन्हें हम भी तो जानते हैं… !!

 

सुनों… बारिश तक तुम भी लौट आना…
वो एक दिन साथ भीगनें वाला वादा… याद है नां…?

 

कमज़ोर पंजों से मार देता है बाज… हाथी को…
हुलिए से हैसियत का अंदाज कहाँ लगता है…!!

 

शायद… मैं अब थोड़ा बदज़ुबान होनें लगा हूँ…
लोगों के सच पूछनें पर… सच… कह देनें लगा हूँ…!!

 

ये वो दौलत है जो साथ साथ जाएगी…
मोहब्बत कहाँ समझ आयी है आज़तक जहाँ वालों को…!!

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

मुलाक़ात की भी इजाज़त नहीं मेरे सरकार से…
इससे तो अच्छा था की मेरी याददाश्त चली जाए…!!

 

उसूलों नें मुझको इज़ाज़त नहीं दी…
वरना उस ढँग से शायद… लड़ाई मैं जीत जाता…!!

 

चंद लम्हों में जिंदगी भर का सुकूँ नहीं मिलता…
उम्र ढ़ल जाती है… ख़ाबों का पालते पालते…!!

 

हवा में दर्द औऱ अश्कों की महक है…
शायद इसी बस्ती में कोई आशिक़ है तड़पता…!!

 

सुरज से कह दो तुम्हारी कुर्सी खतरे में है।
आज बादलों को गठबन्धन करते हुए देखा है !!

 

क्या हुआ जो मुझे हम-उम्र मोहब्बत न मिली
मेरी ख़्वाहिश भी यही थी कि बड़ी आग लगे .. 🥺

 

मुहब्बत में इंतजार सिर्फ मर्द करता है,
औरत अपनी जिंदगी में आगे बढ़ जाती है ।

 

हथेलियां तो मिल गई थी हमारी
बस लकीरों के ना मिलने का मलाल रह गया.

 

खुले पिंजरे में देखा है, कभी बैठा हुआ पंछी,
तुम्हे मालूम ही कहाँ है, मोहब्बत किसे कहते है..

 

ये ख्वाब रहा हमारा कभी गले मिलकर ना दूर होने का
मगर मोहब्बत का दस्तूर है शायद एक दुजे को खोने का !!

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

ठहर जाती है हर नजर तेरे रुखसार पर आकर,,
मेरे चेहरे पर तेरी चाहत का खुमार ही कुछ ऐसा है..

 

प्रेम विरल है, प्रेम सरल है, प्रेम ही महज़ आधार है…
सब्र है मुश्किल, निबाह मुश्किल, मुश्किल इंतज़ार है…!!

 

किसीको कभी कम समझनेकी भूल मत करना,
हर कोई अपने इलाके का बादशाह ही होता हैं…

 

कभी तुम भी कुछ कह दिया करो
एक तरफा सुनवाई तो अदालत में भी नहीं होती..

 

चंद दिन ही रही बस मेरी हुकूमत इश्क़ पर
फ़िर अपनी ही मुहब्बत पर मेरा हक़ नहीं रहा ❤️💞

 

प्यार इकट्ठा दे दिया …तो उन्हें सस्ता लगा
टुकडो़ में देते तो शायद कीमत समझ आती….

 

इश्क़ में बे-ताबियाँ होती हैं लेकिन ऐ ‘दिल’
जिस क़दर बेचैन तुम हो उस क़दर कोई न हो ❤️

 

उनको इतनी जल्दी इज़ाज़त कैसे दे जाने की,
जो आए थे बड़ी मन्नतो के बाद।

 

तुमको सोचा तो मेरी हर सोच बहकती गई,,
तुम को लिखा तो मेरा हर लफ़्ज़ महकता गया।।

 

मैं मांगू तुम्हें तो तुम आमीन कह देना….
सुना है महबूब का दर्जा खुदा से कम नहीं होता….!! ❤️

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

तुम्हारे खयाल भर से फिजा का यूँ रंगीन हो जाना…!
महज ये इत्तिफ़ाक़ नही है, सबूत – ए – इश्क है…!

 

बेसब्र आंखों की तड़प और भी बढ़ जाती है…!
जब ये दिल तुम्हारे दीदार की ज़िद करता है…!!

 

कितनी मासूम होती है ये दिल की धड़कनें,
कोई सुने या ना सुने ये खामोश नही रहती…❤️

 

तुमने ही बदले हैं सिलसिले अपनी वफाओं के,
वरना हमे तो आज भी तुमसे अज़ीज़ कोई नही है.

 

बहुत करीब से अनजान बनकर गुजरा है वो,
जो कभी बहुत दूर से,
पहचान लिया करता था कभी।💔💔

 

कुछ यूँ उतरे वो जिस्म में हमारे रात भर सहारा
लबों का लिया आग तन-बदन में लगा दी 🔥

 

वो तो जिंदगी का एक सबक था,
मुझे लगा बेपनाह मोहब्बत है उसे मुझसे….

 

मौजूद थी उदासी अभी पिछ्ली रात की,
बहला था दिल जरा की फिर रात होने लगी।💖

 

हमने देखे थे हज़ारों…. ख़्वाब “तुम्हारे साथ
और अब तुम्हारा…. साथ भी “एक ख़्वाब है” ❣

 

तुम समझे ही नही मेरी चाहत को,
वरना तुम भी रो देते मुझे पाने के लिए…!💔

 

Two Line Love Shayari in Hindi

 

मत ढूँढा कर मेरी आँखों में इश्क का हिसाब
तुम्हें चाहने का हिसाब मैंने कभी नहीं किया.

 

उसने पूछा, इश्क में क्या देखा ..?
मैंने कहा , लफ्जों को खामोशी में बदलते हुए …!!!

 

तेरे ख्यालों में जागना मंज़ूर है मुझे
जो सुकून तुझे सोचने मे है वो नींद में कहा…

 

उसके साख़ से टूट कर लगता है ऐसा
सब कुछ काम का था उसका बस मेरे अलावा।।