Love Shayari in Hindi 2021 | बेहतरीन लव शायरी हिंदी में

Love Shayari in Hindi 2021 |  Hindi True Love Shayari |  Love Shayari in Hindi | Behtrin Love Shayari in Hindi

दोस्तो आज हम आपके लिए लव  शायरी लेकर आये है आज हम आपको दुनिया की सबसे से ज्यादा पसंद की जाने वाली Love Shayari in Hindi शायरी है जो आपको बहुत पसंद आएगी, अगर आपका को दोस्त हो या प्रेमिका हो तो उसे आप इसमे से जो पसंद आता है, उसे भेज कर इम्प्रेस कर सकते है ये Hindi True Love Shayari, Love Shayari in Hindi सब आपके लिए ही है |


Love Shayari in Hindi 2021

वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी…
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी…
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना…
वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी.

 

घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली
सारी गली उनके पीछे निकली…
इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से…
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली

 

उस जैसा मोती पूरे समंद्र में नही है,
वो चीज़ माँग रहा हूँ जो मुक़्दर मे नही है,
किस्मत का लिखा तो मिल जाएगा मेरे ख़ुदा,
वो चीज़ अदा कर जो किस्मत में नही है…

 

जादू है उसकी हर एक बात मे,
याद बहुत आती है दिन और रात मे,
कल जब देखा था मैने सपना रात मे,
तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ मे…

 

कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए
हम तो बादल है प्यार के…किसी और पर बरस जायेंगे|

Behtrin Love Shayari in Hindi

मंज़िलो से अपनी डर ना जाना,
रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना,
जब भी ज़रूरत हो ज़िंदगी मे किसी अपने की,
हम आपके अपने है ये भूल ना जाना.

 

ना हम कुछ कह पाते हे, ना वोह कुछ कह पाते हे.
एक दूसरे को देखकर गुजर जाया करते हे.
कब तक चलता रहेंगा ये सिलसिला,
ये सोचकर दिन गुजर जाया करते हे.

 

आप को इस दिल में उतार लेने को जी चाहता है,
खूबसूरत से फूलो में डूब जाने को जी चाहता है,
आपका साथ पाकर हम भूल गए सब मैखाने,
क्योकि उन मैखानो में भी आपका ही
चेहरा नज़र आता है….

 

आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…

 

एक जुर्म हुआ है हम से एक यार बना बैठे हैं
कुछ अपना उसको समझ कर सब राज़ बता बैठे हैं
फिर उसकी प्यार की राह में दिल ओर जान गवा बैठे हैं
वो याद बहुत आते हैं जो हुमको भुला बैठे हैं

Hindi Love Shayari For Boyfriend

दिल से दिल मिले होते
तो हमारे भी सपने पुरे हो जाते ,
फूल काँटों पे नहीं खिले होते,
तो फूल तो कोई भी बन जाते, अगर कांटे नहीं होते!

 

कभी कभी , ऐसा होता है
प्यार का असर देर से होता है।
आपको क्या लगता हम आपके बारे कुछ नही सोचते
पर हमारी हर बात में आपका जिक्र होता है।

 

नदी खारे समंदर के लिए जज़्बात से तर है…
समंदर को पता है ये, नदी का वो मुक़द्दर है…
वफ़ा और बेवफ़ाई की मिसालें हैं यह दोनों…
समंदर की कई नदियाँ, नदी का एक समंदर है…

 

शायर तो हम है शायरी बना देंगे
आपको शायरी मे क़ैद कर लेंगे|
कभी सूनाओ हमे अपनी आवाज़
आपकी आवाज़ को हम ग़ज़ल बना देंगे.||

Behtrin Love Shayari in Hindi

जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है……..

 

मेरे वजूद मे काश तू उतार जाए
मे देखु आईना ओर तू नज़र आए,
तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए,
ये ज़िंदगी तुझे यू ही देखते हुए गुज़र जाए..

 

फूल जब माँगते है बरसो दुआ,
तब बहारो की कली खिलती है |
तुम तो आई हो कही जन्नत से,
ऐसी महबूबा जमाने मे कहाँ मिलती है ||

 

फूल जब माँगते है बरसो दुआ,
तब बहारो की कली खिलती है |
तुम तो आई हो कही जन्नत से,
ऐसी महबूबा जमाने मे कहाँ मिलती है ||

Love Shayari in Hindi 2021

याद तेरी आती है क्यो.यू तड़पाती है क्यो?
दूर हे जब जाना था.. फिर रूलाती है क्यो?
दर्द हुआ है ऐसे, जले पे नमक जैसे.
खुद को भी जानता नही, तुझे भूलाऊ कैसे?

 

जब खुदा ने इश्क बनाया होगा,
तब उसने भी इसे आजमाया होगा..
हमारी औकात ही क्या है,
कमबख्त इश्क ने तो
खुदा को भी रुलाया होगा!

 

वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही,
वो मोहबत ही क्या जिसमे यादें नही,
वो यादें क्या जिसमे तुम नही,
और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही!!!

 

हर पल तरसता है उस पल के लिए…
जब तुम मिलो मुझसे एक पल के लिये…
नजरें पथरा सी गयी है तेरा रास्ता निहार के…
तुम मुलाकात टाल देते हो कल के लिए…

 

मेरी दिवानगी को यूँ नजर अंदाज न कर…
कभी महसूस कर सिर्फ आवाज न कर…
मेरे बाद नही मिलेगा कोई हम जैसा…
बना ले मुझको अपना यूँ समय बर्बाद न कर…

वह देता जा रहा है न जाने किस बात की सजा…
अब तो मुझसे वो बात भी नही करता…
जब से मिलने लगा है गैरो से वो ऐ परिन्दे…
कई बार मुझसे कह गया मुझसे प्यार नही करता…

कब तक रहेगा तू यूँ बेगानों की तरह…
कभी बन के घटा बरस जा दीवानों की तरह…
अब तो तेरा दीदार भी मुश्किल लगता है…
किससे करू मैं अब अपनी बेताबी का जिरह…

मिट्टी में मिला दे कि जुदा हो नही सकता…
अब इससे ज्यादा मैं तेरा हो नही सकता…
दहलीज पे रख दी है हमने अपनी आँखे…
रौशन कभी दिया भी तो इतना हो नही सकता…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*