4 Line Heart Touching Shayari in Hindi | मोहब्बत शायरी 4 लाइन

By Shayari Mirchi

Updated on:

हेलो शायरी प्रेमियों! कैसे है आप लोग उम्मीद है अच्छे होंगे। बहुत लोगो को दो लाइन तो किसी को चार लाइन शायरी पढना अच्छा लगता है। आज मैं आपके साथ बेहतरीन 4 Line Shayari in Hindi में शेयर करने जा रहा हूँ।

जो पूरी तरह से अनोखी और दुर्लभ हैं। अगर आप इंटरनेट के युग में  (4 Line Heart Touching Shayari in Hindi ) शायरी की खोज कर रहे हैं तो यह आपके लिए सबसे अच्छा परिणाम हो सकता है।

4 Line Heart Touching Shayari in Hindi

हर धड़कन में एक राज़ होता है;
बात को बताने का भी एक अंदाज़ होता है;
जब तक ना लगे ठोकर बेवाफ़ाई की;
हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है।

————————————————

Waqt Mile Tab Yaad Karte Ho
Mood Ho Tab Baat Karte Ho,
Ek Zamana Tha Jab Har Pal Msg Karte The,
Ab To Registan Ki Baarish Ki Tarah
Yaad Karte Ho

————————————————

बर्बाद कर गए वो ज़िंदगी प्यार के नाम से,
बेवफाई ही मिली हमें सिर्फ वफ़ा के नाम से,
जख्म ही जख्म दिए उस ने दवा के नाम से,
आसमान रो पड़ा मेरी मोहब्बत के अंजाम से।

————————————————

Dost Ne Dil Ka Haal Batana Chod Diya
Hum Ne Bhi Gehraee Main Jana Chod Diya
Aap Ne Sms Karna Kya Band Kiya,
Hum Ne Bhi Mobile Charge Karna Chod Diya.

————————————————

फ़र्ज़ था जो मेरा निभा दिया मैंने,
उसने माँगा जो वो सब दे दिया मैंने,
वो सुनके गैरों की बातें बेवफ़ा हो गयी,
समझ के ख्वाब उसको आखिर भुला दिया मैंने..

————————————————

Apnaa hum safa rbana le tu mujhey,
Tera hi saya hoon apnaa le mujhey,
Ye raat ka safar or b haseen ho jayega
Tu aaja mere spno me ya bula le mujhe

————————————————

दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है,
सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है,
उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता,
उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है |

————————————————

Zindagi Kitni Khubsurat hoti,
Agar teri chahat adhoori na hoti,
Kuchh uljhane khuchh majbooriyan hoti beshak,
Magar pyar mein itni dooriyan na hoti

————————————————

आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।

————————————————

वफा के बदले बेवफाई ना दिया कर,
मेरी उमीद ठुकरा कर इन्कार ना किया कर,
तेरी मौहब्बत में हम सब कुछ गवां बैठे,
जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया कर।

————————————————

Pyar usse iss qadar karta chala jaaun,
Wo zakhm de aur main bharta chala jau
Usski zid hai ki wo mujhe maar hi dale,
To meri b zid hai ki uspe marta chala jaau

————————————————

प्यार वो हम को बेपनाह कर गये,
फिर ज़िन्दगी में हम को तन्नहा कर गये,
चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की,
पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये।

————————————————

Bhula na sakoge mujhe bhul kar tum,
Main aksar khayalo me aata rahunga,
Kabhi yaad bnkr to kabhi khwab bnkr
Main neende tumhari churata rahunga.

————————————————

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

————————————————

Dil Ki Dhadkan Se Teri Awaz Aati Hai,
Meri Har Saans Se Teri Awaz Aati Hai ,
Na Jane Kya Ho Gya Hai Muje ,
Main Baat Karta Hu Teri Awaz Aati Hai…

————————————————

झांखकर देखा होता एक बार तो डोली के अंदर,
के हो गया हैं अब मेरी भी ज़िंदगी का पूरा सफर
तेरे साथ साथ अब मेरी भी मंज़िल ख़त्म हो गयी
बताने ना दिया तूने और कह दिया तू बेवफा हो गयी |

————————————————

Duniya jise neend keheti hai,
Jane woh kya cheez hoti hai,
Aankhe to hum bhi band karte hain,
Aur woh aapse milne ki tarkeeb hoti hai…

————————————————

जबसे तुम्हे देखा है दिल का दर्द खो सा गया
लोगो ने हमसे पूछ लिया तुम्हे अब क्या हो गया,
हम तो मुस्कुरा कर वहा से चले गए
ये भी न कह सके कि हमे उनसे प्यार हो गया !!

————————————————

Chahat Teri Pehchan He Meri…
Mahobbat Teri Shaan He Meri…
Hoke Juda Tujse Kya Reh Paunga…
Tu To Aakhir Jaan he Meri…

————————————————

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा,
जाने क्या बात थी उसमें और मुझ में सारी
महफ़िल भूल गए बस वही एक चेहरा याद रहा |

————————————————

ऐ दिल तू धड़कना बंद कर
जब जब तू धड़कता है तब तब उनकी याद आती है
वो तू खुश है अपनी दुनिआ में
जान तो पल पल हमारी जाती है |

————————————————

Kaun kehta hai dil pagal hai
Pagalpan to sirf aik bahana hai
Aik bar hans kar muskura kar to dekho
Yeh pagal tumhara deewana hai…

————————————————

प्यार वो हम से बेपनाह कर गये
फिर ज़िन्दगी में हम को तन्नहा भी कर गये,
चाहत तो कुछ यूँ थी उनके इश्क में फ़नाह होने की
पर वो लौट कर आने को भी हमे मना कर गये !!

————————————————

Shayari Mirchi

Related Post